Breaking News
मुख्यमंत्री धामी ने चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और कार्यों की समीक्षा की
मुख्यमंत्री धामी ने चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और कार्यों की समीक्षा की
अब सैमसंग वॉलेट के जरिये कर सकेंगे फ्लाइट, बस, फिल्में और इवेंट की टिकट बुकिंग
अब सैमसंग वॉलेट के जरिये कर सकेंगे फ्लाइट, बस, फिल्में और इवेंट की टिकट बुकिंग
मुख्य सचिव से सीआरपीएफ के प्रशिक्षु अधिकारियों ने की शिष्टाचार भेंट
मुख्य सचिव से सीआरपीएफ के प्रशिक्षु अधिकारियों ने की शिष्टाचार भेंट
महाराज ने आपदा प्रभावित ग्राम सुकई के परिवारों को राहत सामग्री की वितरित
महाराज ने आपदा प्रभावित ग्राम सुकई के परिवारों को राहत सामग्री की वितरित
चौंदकोट के लाल साकेत ने किया कमाल
चौंदकोट के लाल साकेत ने किया कमाल
कृषि मंत्री बनते ही एक्शन में शिवराज सिंह चौहान, इन प्रस्तावों को दी मंजूरी
कृषि मंत्री बनते ही एक्शन में शिवराज सिंह चौहान, इन प्रस्तावों को दी मंजूरी
बहुमंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 49 लोगों की मौत, मृतकों में 40 भारतीय
बहुमंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 49 लोगों की मौत, मृतकों में 40 भारतीय
मुख्य सचिव ने 383.11 करोड़ रूपये के प्रोजेक्ट तत्काल नाबार्ड को भेजने के दिए सख्त निर्देश 
मुख्य सचिव ने 383.11 करोड़ रूपये के प्रोजेक्ट तत्काल नाबार्ड को भेजने के दिए सख्त निर्देश 
रोजाना खाली पेट कच्चा लहसुन खाने से मिल सकते हैं कई स्वास्थ्य लाभ
रोजाना खाली पेट कच्चा लहसुन खाने से मिल सकते हैं कई स्वास्थ्य लाभ

भुगतान प्रणाली चलाने वाली दो कंपनियों पर आरबीआई ने लगायी एक-एक करोड़ रुपये की पेनाल्टी

[ad_1]

नयी दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने भुगतान प्रणाली का परिचालन करने वाली निजी क्षेत्र की कंपनियों मोबिच्कि सिस्टम्स प्रा.लि़ और स्पाइस मनी लि. पर कानून का उल्लंघन करने के आरोप में एक-एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। इन कंपनियों के खिलाफ यह कार्रवाई (नेट-वर्थ) न्यूनतम निवल परिसम्पत्ति संबंधी नियम और निर्देशों का अनुपालन न करने के मामले में की गयी है।
आरबीआई के अनुसार इन कंपनियों पर सात दिसंबर के अलग-अलग आदेशों के तहत जुर्माने लगाए गए हैं।
इन कंपनियों ने भुगतान एवं निपटान प्रणाली अधिनियम 2007 की धारा 26(6) के प्रावधानों के तहत कानून का उल्लंघन किया है। रिजर्व बैंक ने इस अधिनियम की घारा 30 के तहत इन कंपनियों पर यह जुर्माना लगाया। विज्ञप्ति के अनुसार इन कपंनियों ने भारत बिल भुगतान परिचालन इकाइयों (बीबीपीओयू) के लिए न्यूनतम निवल-सम्पत्ति संबंधी आरबीआई के निर्देशों का पालन नहीं किया था।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top