Breaking News
रोहित शेट्टी के शो में नीति टेलर की होगी एंट्री, खतरों के खिलाड़ी 14 में मचेगा तहलका
रोहित शेट्टी के शो में नीति टेलर की होगी एंट्री, खतरों के खिलाड़ी 14 में मचेगा तहलका
दार्जिलिंग की उपेक्षा कर रही है ममता- महाराज
दार्जिलिंग की उपेक्षा कर रही है ममता- महाराज
कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति ने थामा बीजेपी का दामन 
कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति ने थामा बीजेपी का दामन 
एक्शन मोड में धनदा, चारधाम यात्रा को लेकर कसे स्वास्थ्य अधिकारियों के पेच
एक्शन मोड में धनदा, चारधाम यात्रा को लेकर कसे स्वास्थ्य अधिकारियों के पेच
इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में हैं मुख्यमंत्री धामी
इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में हैं मुख्यमंत्री धामी
लगातार धधक रहे उत्तराखंड के जंगल, वन संपदा को पहुंच रहा भारी नुकसान 
लगातार धधक रहे उत्तराखंड के जंगल, वन संपदा को पहुंच रहा भारी नुकसान 
गर्मियों में आरामदायक और ट्रेंडी दिखने के लिए वॉर्डरोब में शामिल करें ये फुटवियर्स
गर्मियों में आरामदायक और ट्रेंडी दिखने के लिए वॉर्डरोब में शामिल करें ये फुटवियर्स
ऋषिकेश के चीला बैराज में डूबे युवक का शव बरामद
ऋषिकेश के चीला बैराज में डूबे युवक का शव बरामद
पीएम मोदी देश में ‘भ्रष्टाचार की पाठशाला’ चला रहे हैं’- राहुल गांधी
पीएम मोदी देश में ‘भ्रष्टाचार की पाठशाला’ चला रहे हैं’- राहुल गांधी

कोरोना जांच फर्जीवाड़े की विभागीय जांच अटक गई

[ad_1]

देहरादून। हरिद्वार महाकुंभ के दौरान हुए कोरोना जांच फर्जीवाड़े की विभागीय जांच अटक गई है। विभागीय जांच अधिकारी को अभी तक इस फर्जीवाड़े से जुड़े दस्तावेज नहीं मिल पाने की वजह से दो महीने से जांच शुरू नहीं हो पाई है। हरिद्वार महाकुंभ के दौरान कोरोना जांच में भारी गड़बड़ी सामने आई थी। मामले की जांच के बाद मेला अधिकारी, स्वास्थ्य और अपर मेला अधिकारी स्वास्थ्य को निलंबित कर दिया था।  

इन दोनों के इस मामले में जुड़े होने और संलिप्तता को लेकर विभागीय जांच के भी आदेश हुए थे। पहले नामित किए गए जांच अधिकारी ने जांच से इंकार कर दिया था। लेकिन दूसरे जांच अधिकारी को दस्तावेज ही नहीं मिल पा रहे हैं। सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने बताया कि जांच जल्द पूरी कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सूत्रों के अनुसार इस मामले के टेंडर में भारी अनियमितता हुई है। इसलिए कुछ और अफसरों पर भी गाज गिर सकती है।

पंत दंपति के मुलाकातियों पर टिकी पुलिस की नजर कोरोना जांच घोटाले के मुख्य आरेापी मैक्स सर्विसेज कार्पोरेट के पार्टनर पंत दंपति से बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के मुलाकात संभव नहीं है। खुफिया विभाग एवं एसआईटी भी उनके मुलाकातियों पर निगाहें गढ़ाए हुए है और जेल प्रशासन से संपर्क साधे हुए है। सोमवार को कोरोना जांच घोटाले के मुख्य आरोपी शरत पंत एवं उसकी पत्नी मल्लिका पंत को एसआईटी ने नोएडा गौतमबुद्धनगर में उनके घर से गिरफ्तार कर लिया था।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top