Breaking News
रोहित शेट्टी के शो में नीति टेलर की होगी एंट्री, खतरों के खिलाड़ी 14 में मचेगा तहलका
रोहित शेट्टी के शो में नीति टेलर की होगी एंट्री, खतरों के खिलाड़ी 14 में मचेगा तहलका
दार्जिलिंग की उपेक्षा कर रही है ममता- महाराज
दार्जिलिंग की उपेक्षा कर रही है ममता- महाराज
कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति ने थामा बीजेपी का दामन 
कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति ने थामा बीजेपी का दामन 
एक्शन मोड में धनदा, चारधाम यात्रा को लेकर कसे स्वास्थ्य अधिकारियों के पेच
एक्शन मोड में धनदा, चारधाम यात्रा को लेकर कसे स्वास्थ्य अधिकारियों के पेच
इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में हैं मुख्यमंत्री धामी
इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में हैं मुख्यमंत्री धामी
लगातार धधक रहे उत्तराखंड के जंगल, वन संपदा को पहुंच रहा भारी नुकसान 
लगातार धधक रहे उत्तराखंड के जंगल, वन संपदा को पहुंच रहा भारी नुकसान 
गर्मियों में आरामदायक और ट्रेंडी दिखने के लिए वॉर्डरोब में शामिल करें ये फुटवियर्स
गर्मियों में आरामदायक और ट्रेंडी दिखने के लिए वॉर्डरोब में शामिल करें ये फुटवियर्स
ऋषिकेश के चीला बैराज में डूबे युवक का शव बरामद
ऋषिकेश के चीला बैराज में डूबे युवक का शव बरामद
पीएम मोदी देश में ‘भ्रष्टाचार की पाठशाला’ चला रहे हैं’- राहुल गांधी
पीएम मोदी देश में ‘भ्रष्टाचार की पाठशाला’ चला रहे हैं’- राहुल गांधी

भारत में टैक्स चोरी कर फंसी चीनी मोबाइल कंपनियां

[ad_1]

कई कंपनियों के खिलाफ आयकर विभाग की छापेमारी
नई दिल्ली। चीनी मोबाइल कंपनियों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए, आयकर विभाग देश भर में प्रमुख चीनी मोबाइल कंपनियों पर छापेमारी कर रहा है। आईटी विभाग ओप्पो, श्याओमी और वन प्लस सहित अन्य मोबाइल कंपनियों के यहां छापेमारी कर रहा है।
सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग ने कर चोरी के आरोप में चीनी मोबाइल फोन निर्माताओं से जुड़ी इकाइयों के खिलाफ छापेमारी की। यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और दक्षिण के कुछ राज्यों में स्थित परिसरों पर की जा रही है। मंगलवार से शुरू हुई तलाशी में इन कंपनियों के दो दर्जन से अधिक परिसर शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, ग्रेटर नोएडा, कोलकाता, गुवाहाटी, इंदौर और कुछ अन्य जगहों पर छापेमारी जारी है। सूत्रों ने बताया कि इस रेड में कुछ फिनटेक कंपनियां भी शामिल हैं। इन कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इस तलाशी में शामिल हैं और फिलहाल इनसे आयकर अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि इन कंपनियों के कुछ विक्रेताओं और वितरण साझेदारों के खिलाफ भी छापेमारी की जा रही है।

खुफिया इनपुट मिलने पर डाली रेड
इन चीनी मोबाइल फर्मों द्वारा भारी कर चोरी के खुफिया इनपुट मिलने पर रेड डाली गई थी। ये कंपनियां लंबे समय से रडार पर थीं और जब आयकर विभाग को कर चोरी की पुख्ता जानकारी मिली तो इन कंपनियों पर छापेमारी की गई। सूत्रों के मुताबिक, चल रही तलाशी के बारे में ब्योरा देना जल्दबाजी होगी लेकिन कर चोरी का सबूत देने वाले डिजिटल डेटा की पर्याप्त मात्रा पाई गई है और उन्हें जब्त कर लिया गया है।

चीनी दूरसंचार विक्रेता की पहले ही खुल चुकी है पोल
इससे पहले अगस्त में, एक चीनी सरकार द्वारा नियंत्रित दूरसंचार विक्रेता, जैडटीई की तलाशी ली गई थी। कंपनी के कॉर्पोरेट ऑफिस, विदेशी निदेशक के आवास, कंपनी सचिव के आवास, अकाउंट संभालने वाले व्यक्ति और कंपनी के कैश हैंडलर सहित जैडटीई के कुल पांच परिसरों में तलाशी ली गई। जैडटीई पर रेड के दौरान, बिक्री बिलों की तुलना में आयात बिलों की जांच से पता चला कि उपकरण के व्यापार पर लगभग 30 प्रतिशत का सकल लाभ हुआ था, लेकिन कंपनी पिछले कुछ वर्षों में भारी घाटे की बात कर रही थी।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top