Breaking News
कांग्रेस ने देश को घोटालों के अलावा कुछ नहीं दिया- महाराज
कांग्रेस ने देश को घोटालों के अलावा कुछ नहीं दिया- महाराज
आईपीएल 2024- क्वालीफायर-1 में आज कोलकाता नाइट राइडर्स से भिड़ेगी सनराइजर्स हैदराबाद
आईपीएल 2024- क्वालीफायर-1 में आज कोलकाता नाइट राइडर्स से भिड़ेगी सनराइजर्स हैदराबाद
यहां जानें ईरानी राष्ट्रपति की मौत के बाद अब ईरान में कब होंगे राष्ट्रपति चुनाव?
यहां जानें ईरानी राष्ट्रपति की मौत के बाद अब ईरान में कब होंगे राष्ट्रपति चुनाव?
कार्तिक आर्यन की फिल्म चंदू चैंपियन का दमदार ट्रेलर रिलीज, देशभक्ति से भरपूर होगी फिल्म
कार्तिक आर्यन की फिल्म चंदू चैंपियन का दमदार ट्रेलर रिलीज, देशभक्ति से भरपूर होगी फिल्म
 धरना-प्रदर्शन के बाद केदारनाथ में गर्भगृह से दर्शन हुए शुरू
 धरना-प्रदर्शन के बाद केदारनाथ में गर्भगृह से दर्शन हुए शुरू
ईडी ने अब आम आदमी पार्टी पर लगाया ये बड़ा आरोप, गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट
ईडी ने अब आम आदमी पार्टी पर लगाया ये बड़ा आरोप, गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट
सीएम धामी के गुड गवर्नेंस का दिखा कमाल, मंहगाई पर नियंत्रण पाने में दिख रहे सफल
सीएम धामी के गुड गवर्नेंस का दिखा कमाल, मंहगाई पर नियंत्रण पाने में दिख रहे सफल
ब्लैकबेरी बनाम ब्लूबेरी- इनमें से कौन- सी है ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक ?
ब्लैकबेरी बनाम ब्लूबेरी- इनमें से कौन- सी है ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक ?
Auto Draft
शाम पांच बजे के बाद यमुनोत्री पैदल मार्ग रहेगा प्रतिबंधित, उत्तरकाशी पुलिस ने जारी की एसओपी 

संजय प्रसाद यूपी ब्यूरोक्रेसी के नए शहंशाह, यूं बने सीएम योगी के सबसे पावरफुल नौकरशाह

संजय प्रसाद यूपी ब्यूरोक्रेसी के नए शहंशाह, यूं बने सीएम योगी के सबसे पावरफुल नौकरशाह

[ad_1]

लखनऊ। यूपी की ब्यूरोक्रेसी में बीते दिन 1 सितंबर कि सुबह अचानक ही बड़ा बदलाव हुआ। यूपी की टीम 9 में कई अहम नौकरशाहों को अचानक ही बदल दिया गया। मगर इस बदलाव में एक अहम चीज जो दिखाई दी वो ये कि मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव संजय प्रसाद सबसे ताकतवर होकर उभरे। संजय प्रसाद को प्रमुख सचिव गृह और प्रमुख सचिव सूचना दोनों की जिम्मेदारी एक साथ दे दी गई है। गृह विभाग का यह वही पद है जो कभी अवनीश अवस्थी के पास हुआ करता था। यानी 2017 से 2022 के दौरान जिस कद के साथ अवनीश अवस्थी सीएम योगी के सबसे ताकतवर नौकरशाह थे है, अब वही कद संजय प्रसाद का होगा। आपको बता दें कि लगभग 3 सालों से संजय प्रसाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रमुख सचिव होने के साथ सीएमओ की जिम्मेदारी भी देखते रहे हैं। यही नहीं वो सचिव सूचना के पद पर भी तैनात रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी के सबसे खासमखास अधिकारियों में शुमार संजय प्रसाद 1995 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. वह मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं।

डेटा मैन माने जाते हैं संजय प्रसाद
संजय प्रसाद की खासियत है कि उन्हें आंकड़ों में महारत हासिल है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास आंकड़ों के साथ अगर कोई कागज भेजना होता है, तो संजय प्रसाद के जरिए जाता है क्योंकि माना जाता है विभाग चाहे कोई हो डाटा या आंकड़ा संजय प्रसाद से गुजर कर आता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आसपास अगर साए की तरह कोई एक अधिकारी मौजूद होता है तो उनका नाम संजय प्रसाद है। वह चाहे मुख्यमंत्री आवास हो, वह चाहे लोकभवन में मुख्यमंत्री का कार्यालय हो या फिर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की यात्राएं हों। संजय प्रसाद चलते फिरते मुख्यमंत्री के दफ्तर के रूप में उनके साथ होते हैं। कोविड के भयावह हालात के बीच संजय प्रसाद योगी आदित्यनाथ के सबसे करीब रहे. चाहे कोविड के दौरों में साथ रहना हो या सरकारी और राजनीति की यात्राएं हों। प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री के तौर पर संजय प्रसाद हमेशा नजर आते थे। अब जबकि संजय प्रसाद को गृह और सूचना दोनों का प्रमुख सचिव बनाया गया है, तो ऐसे में माना जा रहा है कि उन्हें भी अवनीश अवस्थी की तरह जी मुख्यमंत्री ने ताकत सौंपी है।

फिटनेस फ्रीक हैं संजय प्रसाद
संजय प्रसाद की दिनचर्या में उनका फिटनेस सबसे आहम है। हर दिन सुबह कई किलोमीटर टहलना उनकी आदत में शुमार है। अपने तमाम व्यस्त कामों के बावजूद संजय प्रसाद फिटनेस के अपने नियम को तोड़ते नहीं हैं।

नवनीत सहगल का घटा कद!
नवनीत सहगल जोकि यूपी के ताकतवर नौकरशाहों में शुमार रहे हैं, उन्हें अचानक ही किनारे लगा दिया गया है। एसीएस सूचना और एसीएस एमएसएमई के पद पर तैनात रहे नवनीत सहगल को खेलकूद विभाग का एसीएस नियुक्त किया गया है। इस इस फैसले को नवनीत सहगल के खिलाफ देखा जा रहा है और माना जा रहा है कि उन्हें सरकार ने पूरी तरीके से फिलहाल किनारे लगा दिया है।

आपको बता दें कि बदलाव सिर्फ नवनीत सहगल के स्तर पर ही नहीं है, बल्कि एसीएस स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद को भी स्वास्थ्य से हटाकर एमएसएमई का प्रभार दिया गया है। वहीं, मनोज सिंह को ग्रामीण विकास के अतिरिक्त मुख्य सचिव के पद से हटा दिया गया है। माना जा रहा है दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक भी अपने अपने सचिवों से नाराज थे। ब्रजेश पाठक ने तो बाकायदा, स्वास्थ विभाग में हुए बड़े ट्रांसफर में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए अपने सचिव के खिलाफ मुख्यमंत्री को चिट्ठी तक लिख दी थी।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top