Breaking News
रोहित शेट्टी के शो में नीति टेलर की होगी एंट्री, खतरों के खिलाड़ी 14 में मचेगा तहलका
रोहित शेट्टी के शो में नीति टेलर की होगी एंट्री, खतरों के खिलाड़ी 14 में मचेगा तहलका
दार्जिलिंग की उपेक्षा कर रही है ममता- महाराज
दार्जिलिंग की उपेक्षा कर रही है ममता- महाराज
कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति ने थामा बीजेपी का दामन 
कांग्रेस के दिग्गज नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधु अनुकृति ने थामा बीजेपी का दामन 
एक्शन मोड में धनदा, चारधाम यात्रा को लेकर कसे स्वास्थ्य अधिकारियों के पेच
एक्शन मोड में धनदा, चारधाम यात्रा को लेकर कसे स्वास्थ्य अधिकारियों के पेच
इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में हैं मुख्यमंत्री धामी
इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में हैं मुख्यमंत्री धामी
लगातार धधक रहे उत्तराखंड के जंगल, वन संपदा को पहुंच रहा भारी नुकसान 
लगातार धधक रहे उत्तराखंड के जंगल, वन संपदा को पहुंच रहा भारी नुकसान 
गर्मियों में आरामदायक और ट्रेंडी दिखने के लिए वॉर्डरोब में शामिल करें ये फुटवियर्स
गर्मियों में आरामदायक और ट्रेंडी दिखने के लिए वॉर्डरोब में शामिल करें ये फुटवियर्स
ऋषिकेश के चीला बैराज में डूबे युवक का शव बरामद
ऋषिकेश के चीला बैराज में डूबे युवक का शव बरामद
पीएम मोदी देश में ‘भ्रष्टाचार की पाठशाला’ चला रहे हैं’- राहुल गांधी
पीएम मोदी देश में ‘भ्रष्टाचार की पाठशाला’ चला रहे हैं’- राहुल गांधी

वकालत की आड में ठेकेदारी व प्रापर्टी डी‍लींग करने वाले अध‍िवक्‍ताओं का निरस्त होगा पंजीकरण

[ad_1]

नैनीताल। काला कोट पहन कर या बिना यूनिफार्म के वकालत से इतर काम करने वालों पर उत्तराखंड बार काउंसिल सख्ती करने जा रही है। ठेकेदारी प्लाटिंग करने, अराजकता फैलाने आपराधिक कार्य में लिप्त अधिवक्ताओं का अधिवक्ता के रूप में कांउसिल में हुए पंजीकरण को रद्द किया जाएगा।

राज्य के तमाम जिलों से बार काउंसिल के चेयरमैन मनमोहन लाम्बा को अनेको वकीलों के गैर कानूनी कार्य करने की शिकायतें मिली हैं। कांउसिल का मानना है कि चंद अधिवक्ताओं के अनैतिक कार्यों के करने से पूरे अधिवक्ता समाज की छवि पर विपरीत प्रभाव पड़ता है, साथ ही न्यायिक कार्य भी प्रभावित होता है व नये अधिवक्ताओं के जीवन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इस कारण सम्पूर्ण समाज अधिवक्ताओं को गलत नजर से देखने लगता है, इसलिए कांउसिल इस विषय को गम्भीरता से लेकर सख्त कदम उठाने जा रही है , जिसके लिए बार कांउसिल की पांच सदस्यीय कमेटी की गई है। कमेटी में बार काउंसिल के वाईस चौयरमेन राव मुनफेत अली, वरिष्ठ सदस्य चन्द्रशेखर तिवारी, वरिष्ठ सदस्य योगेन्द्र सिंह तोमर, सदस्य राजकुमार चौहान, सदस्य राजवीर सिंह बिष्ट शामिल हैं।

चेयरमैन ने बताया कि प्रदेश के समस्त अधिवक्ताओं को सीओपी (सर्टिफिकेट ऑफ प्रेक्टिस) कांउसिल से प्राप्त करने का अनुरोध किया गया है। बार काउंसिल के चौयरमेन लाम्बा ने बातचीत में कहा कि आमतौर पर अधिवक्ता अपने पेशे के प्रति इमानदार व अनुशासित होते हैं, उनके पास केस से इतर करने एवं सोचने का समय नहीं होता। अधिवक्ता बन्धु दूसरों को गैर कानूनी कार्य करने से रोकते हैं इसलिए गलत लोगों के खिलाफ कार्य करने का निर्णय लिया है। प्रदेश की प्रत्येक बार एसोसिएशन के अध्यक्ष से रिपोर्ट मांगी जा रही है। ऐसे अवांच्छित तत्वों के विरुद्ध बार कांउसिल अपने स्तर पर उनका पंजीकरण व सीओपी निरस्तीकरण करने का निर्णय लेगी।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top