Breaking News
गर्मियां शुरू होते ही जंगल की आग होने लगी बेकाबू, भारी मात्रा में वन संपदा को नुकसान 
गर्मियां शुरू होते ही जंगल की आग होने लगी बेकाबू, भारी मात्रा में वन संपदा को नुकसान 
बीजेपी ने स्टार प्रचारक की लिस्ट से हटाया सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम अजित पवार का नाम
बीजेपी ने स्टार प्रचारक की लिस्ट से हटाया सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम अजित पवार का नाम
आईपीएल 2024- राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला आज 
आईपीएल 2024- राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला आज 
कड़े कानून लागू करने से लेकर हर वर्ग का कल्याण किया- मुख्यमंत्री
कड़े कानून लागू करने से लेकर हर वर्ग का कल्याण किया- मुख्यमंत्री
विक्की कौशल, तृप्ति डिमरी और ऐमी विर्क बड़े पर्दे पर मचाएंगे धमाल, फिल्म ‘बैड न्यूज’ की रिलीज तारीख का हुआ ऐलान
विक्की कौशल, तृप्ति डिमरी और ऐमी विर्क बड़े पर्दे पर मचाएंगे धमाल, फिल्म ‘बैड न्यूज’ की रिलीज तारीख का हुआ ऐलान
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने न्याय संकल्प सभा को किया संबोधित, कहा उत्तराखंड से उनका खास रिश्ता है…..
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने न्याय संकल्प सभा को किया संबोधित, कहा उत्तराखंड से उनका खास रिश्ता है…..
सुप्रीम कोर्ट 15 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल की याचिका पर करेगा सुनवाई
सुप्रीम कोर्ट 15 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल की याचिका पर करेगा सुनवाई
चार धाम सहित पंचकेदार पंच बदरी के कपाट खुलने की तिथियां घोषित
चार धाम सहित पंचकेदार पंच बदरी के कपाट खुलने की तिथियां घोषित
सिरदर्द होने पर तुरंत पेनकिलर न खाएं, इस बीमारी का बढ़ जाता है खतरा
सिरदर्द होने पर तुरंत पेनकिलर न खाएं, इस बीमारी का बढ़ जाता है खतरा

नहीं थम रहा चारधाम यात्रियों की मौत का सिलसिला, 18 दिन में हो चुकी है 54 यात्रियों की मौत

नहीं थम रहा चारधाम यात्रियों की मौत का सिलसिला, 18 दिन में हो चुकी है 54 यात्रियों की मौत

[ad_1]

देहरादून। चारधाम यात्रा में हृदयगति रुकने से यात्रियों की मौत का सिलसिला नहीं थम रहा है। एक दिन पहले शुक्रवार को केदारनाथ व बदरीनाथ में दो-दो और ऋषिकेश में तीन श्रद्धालुओं ने दम तोड़ा। अब तक चारों धाम में 54 श्रद्धालुओं की हृदयगति रुकने से मौत हो चुकी है।

स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद यात्रा शुरू करने पर बल

स्वास्थ्य विभाग ने तीर्थयात्रियों के लिए एडवाइजरी जारी की है। इसमें विशेषकर वरिष्ठ नागरिक, कोमर्बिडिटी (एक से अधिक बीमारियों से ग्रसित) अथवा लोंग-कोविड से प्रभावित यात्रियों को स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद यात्रा शुरू करने पर बल दिया गया है।

चारधाम यात्रा में चारों धाम उच्च हिमालयी क्षेत्र में हैं, इनकी ऊंचाई समुद्र तल से 2700 मी से भी ज्‍यादा है। जिस वजह से यहां यात्री अत्यधिक ठंड, कम आद्रता, अत्यधिक अल्ट्रा वायलेट रेडिएशन, कम हवा का दबाव और कम आक्सीजन की मात्रा का सामना करना पड़ता है। ऐसे में सुगम एवं सुरक्षित यात्रा के लिए नीचे दिए गए 14 बिंदुओं का खास ध्‍यान रखने की सलाह दी गई है।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top