Breaking News
मुख्यमंत्री धामी ने चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और कार्यों की समीक्षा की
मुख्यमंत्री धामी ने चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और कार्यों की समीक्षा की
अब सैमसंग वॉलेट के जरिये कर सकेंगे फ्लाइट, बस, फिल्में और इवेंट की टिकट बुकिंग
अब सैमसंग वॉलेट के जरिये कर सकेंगे फ्लाइट, बस, फिल्में और इवेंट की टिकट बुकिंग
मुख्य सचिव से सीआरपीएफ के प्रशिक्षु अधिकारियों ने की शिष्टाचार भेंट
मुख्य सचिव से सीआरपीएफ के प्रशिक्षु अधिकारियों ने की शिष्टाचार भेंट
महाराज ने आपदा प्रभावित ग्राम सुकई के परिवारों को राहत सामग्री की वितरित
महाराज ने आपदा प्रभावित ग्राम सुकई के परिवारों को राहत सामग्री की वितरित
चौंदकोट के लाल साकेत ने किया कमाल
चौंदकोट के लाल साकेत ने किया कमाल
कृषि मंत्री बनते ही एक्शन में शिवराज सिंह चौहान, इन प्रस्तावों को दी मंजूरी
कृषि मंत्री बनते ही एक्शन में शिवराज सिंह चौहान, इन प्रस्तावों को दी मंजूरी
बहुमंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 49 लोगों की मौत, मृतकों में 40 भारतीय
बहुमंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 49 लोगों की मौत, मृतकों में 40 भारतीय
मुख्य सचिव ने 383.11 करोड़ रूपये के प्रोजेक्ट तत्काल नाबार्ड को भेजने के दिए सख्त निर्देश 
मुख्य सचिव ने 383.11 करोड़ रूपये के प्रोजेक्ट तत्काल नाबार्ड को भेजने के दिए सख्त निर्देश 
रोजाना खाली पेट कच्चा लहसुन खाने से मिल सकते हैं कई स्वास्थ्य लाभ
रोजाना खाली पेट कच्चा लहसुन खाने से मिल सकते हैं कई स्वास्थ्य लाभ

दिल्ली को प्रदूषण मुक्त करने के लिए पंजाब-हरियाणा और उत्तर प्रदेश 26 अप्रैल को करेंगे बैठक

दिल्ली को प्रदूषण मुक्त करने के लिए पंजाब-हरियाणा और उत्तर प्रदेश 26 अप्रैल को करेंगे बैठक

[ad_1]

पंजाब।  देश की राजधानी को प्रदूषण मुक्त करने के लिए दिल्ली के पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब मंथन करेंगे। केंद्र की ओर से गठित कमीशन फॉर एयर क्वालिटी द्वारा इस मुद्दे को लेकर 26 अप्रैल को बुलाई बैठक में तीनों राज्य हिस्सा लेंगे। बैठक में राज्यों के कृषि सचिव और विज्ञान एवं तकनीकी विभाग के अधिकारी शामिल होंगे।

वैसे तो अमूमन दिल्ली अक्तूबर के महीने में सबसे ज्यादा प्रदूषित रहती है। इसका सबसे बड़ा कारण उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब को अभी तक माना जाता रहा है। यहां धान की फसल कटने के बाद जलने वाली पराली और दिल्ली में वाहनों के धुएं से होने वाला प्रदूषण प्रमुख है। प्रदूषण के इस संभावित खतरे से बचने के लिए केंद्र सरकार ने प्रदूषण के लिए जिम्मेदार कारकों के समाधान के कमीशन फॉर एयर क्वालिटी का गठन किया था। 

अब कमीशन ने गत वर्ष जैसे हालात न बनें इसके लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। कमीशन की ओर से पराली प्रबंधन के उपायों को लेकर पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कृषि विभाग के प्रमुख सचिवों और विज्ञान व तकनीकी विभाग के प्रमुख सचिवों की बैठक बुलाई है। प्रदूषण को लेकर यह बैठक 26 अप्रैल को दिल्ली में आयोजित की जाएगी। विभाग के कुछ अधिकारियों के अनुसार इस बैठक में पराली जलाने के मामलों की संख्या को कम करना और उसके निस्तारण पर चर्चा की जाएगी। इस बैठक के बाद प्रदूषण के लिए जिम्मेदार परिवहन, उद्योग और निर्माण कार्यों से संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक आयोजित की जाएगी।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top