Breaking News
गर्मियां शुरू होते ही जंगल की आग होने लगी बेकाबू, भारी मात्रा में वन संपदा को नुकसान 
गर्मियां शुरू होते ही जंगल की आग होने लगी बेकाबू, भारी मात्रा में वन संपदा को नुकसान 
बीजेपी ने स्टार प्रचारक की लिस्ट से हटाया सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम अजित पवार का नाम
बीजेपी ने स्टार प्रचारक की लिस्ट से हटाया सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम अजित पवार का नाम
आईपीएल 2024- राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला आज 
आईपीएल 2024- राजस्थान रॉयल्स और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला आज 
कड़े कानून लागू करने से लेकर हर वर्ग का कल्याण किया- मुख्यमंत्री
कड़े कानून लागू करने से लेकर हर वर्ग का कल्याण किया- मुख्यमंत्री
विक्की कौशल, तृप्ति डिमरी और ऐमी विर्क बड़े पर्दे पर मचाएंगे धमाल, फिल्म ‘बैड न्यूज’ की रिलीज तारीख का हुआ ऐलान
विक्की कौशल, तृप्ति डिमरी और ऐमी विर्क बड़े पर्दे पर मचाएंगे धमाल, फिल्म ‘बैड न्यूज’ की रिलीज तारीख का हुआ ऐलान
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने न्याय संकल्प सभा को किया संबोधित, कहा उत्तराखंड से उनका खास रिश्ता है…..
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने न्याय संकल्प सभा को किया संबोधित, कहा उत्तराखंड से उनका खास रिश्ता है…..
सुप्रीम कोर्ट 15 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल की याचिका पर करेगा सुनवाई
सुप्रीम कोर्ट 15 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल की याचिका पर करेगा सुनवाई
चार धाम सहित पंचकेदार पंच बदरी के कपाट खुलने की तिथियां घोषित
चार धाम सहित पंचकेदार पंच बदरी के कपाट खुलने की तिथियां घोषित
सिरदर्द होने पर तुरंत पेनकिलर न खाएं, इस बीमारी का बढ़ जाता है खतरा
सिरदर्द होने पर तुरंत पेनकिलर न खाएं, इस बीमारी का बढ़ जाता है खतरा

केदारनाथ में खुले में रात बिता रहे तीर्थ यात्री, दर्शन को लंबा इंतजार

केदारनाथ में खुले में रात बिता रहे तीर्थ यात्री, दर्शन को लंबा इंतजार

[ad_1]

देहरादून । चारधाम यात्रा उमड़ रहे श्रद्धालुओं की भारी संख्या से धामों मेें इंतजाम चरमरा गए हैं। केदारनाथ में तो कई यात्री लॉज, दुकानों के आगे या खुले में रात बिताने को मजबूर हो रहे हैं। वहीं बदरीनाथ में किए जा रहे मास्टर प्लान के कारण भी यात्रियों को ठहरने की दिक्कत हो रही है। केदारनाथ में सरकारी और निजी मिलाकर कुल सात हजार यात्रियों के ठहरने का इंतजाम है। लेकिन वहां रोजाना 15 से 18 हजार यात्री पहुंच रहे हैं। इसलिए सैकड़ों यात्री होटल, लॉज की गैलरी, दुकानों तक में रुकने को मजबूर रहना पड़ रहा है। 

राजस्थान के सोनाजी, कोलकाता के कजारीराम, दिल्ली के त्रिभुवन कुमार, महाराष्ट्र के सुजीदेव ने बताया कि केदारनाथ में होटल, लॉज भी नहीं मिल पाए। सरकारी टैंट कालोनी में भी जगह नहीं मिली। एक तीर्थपुरोहित से बाहर गैलरी में सोने की अनुमति मांगी। जिन यात्रियों को रात में रुकने की जगह नहीं मिल पा रही है। वे होटल, लॉज स्वामियों की खुशामद करते नजर आ रहे हैं।

दर्शन को करना पड़ रहा लंबा इंतजार
गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में छह से आठ हजार यात्री प्रतिदिन पहुंच रहे हैं। गंगोत्री धाम में पांच हजार यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था है। यमुनोत्री धाम में सिर्फ 200 लोगों के ही ठहरने की व्यवस्था है। यहां यात्रियों को रात्रि विश्राम के लिए जानकीचट्टी और बड़कोट आना पड़ता है।

गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में सुबह ही यात्री दर्शन को पहुंच रहे हैं। घंटों लाइन में लगकर भक्त धामों के दर्शन कर रहे हैं। 
वहीं, केदारनाथ में दर्शनों के लिए भी करीब चार घंटे तक का इंतजार करना पड़ रहा है। क्षमता से अधिक यात्री पहुंचने से ठहरने और खाने पीने के लिए परेशानी हो रही है। उधर, डीएम मयूर दीक्षित ने कहा कि, यात्रियों को क्षमता के अनुरूप ही गौरीकुंड से आगे भेजने का प्रयास किया जा रहा है। 



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top