Breaking News
शिक्षकों को सम्पूर्ण सेवा काल में एक बार मिलेगा संवर्ग परिवर्तन का मौका
शिक्षकों को सम्पूर्ण सेवा काल में एक बार मिलेगा संवर्ग परिवर्तन का मौका
पाकिस्तान के पूर्व मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने इण्डिया गठबंधन को दी शुभकामनाएं, कहा- सब चाहते है पीएम मोदी हारें…
पाकिस्तान के पूर्व मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने इण्डिया गठबंधन को दी शुभकामनाएं, कहा- सब चाहते है पीएम मोदी हारें…
उपराष्ट्रपति के उत्तराखण्ड दौरे की तैयारी को दिया फाइनल टच
उपराष्ट्रपति के उत्तराखण्ड दौरे की तैयारी को दिया फाइनल टच
सीएम धामी ने स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका
सीएम धामी ने स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका
विक्रांत मैसी और मौनी रॉय स्टारर फिल्म ब्लैकआउट का दमदार टीजर हुआ रिलीज, 7 जून को जियो सिनेमा पर होगा प्रीमियर
विक्रांत मैसी और मौनी रॉय स्टारर फिल्म ब्लैकआउट का दमदार टीजर हुआ रिलीज, 7 जून को जियो सिनेमा पर होगा प्रीमियर
मुख्यमंत्री के निर्देशों पर उत्तराखण्ड स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों के लिए जारी की अग्नि सुरक्षा एडवाइजरी
मुख्यमंत्री के निर्देशों पर उत्तराखण्ड स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों के लिए जारी की अग्नि सुरक्षा एडवाइजरी
विपक्षी पार्टियों को सबक सिखाकर, भाजपा को समर्थन देगी जनता- सीएम
विपक्षी पार्टियों को सबक सिखाकर, भाजपा को समर्थन देगी जनता- सीएम
आप भी करवा रही हैं लिप फिलर? ये बात ध्यान रखें वरना होठों को हो सकता है नुकसान
आप भी करवा रही हैं लिप फिलर? ये बात ध्यान रखें वरना होठों को हो सकता है नुकसान
बेसिक शिक्षकों के 3600 पदों पर होगी भर्ती
बेसिक शिक्षकों के 3600 पदों पर होगी भर्ती

उत्तराखंड सरकार अब पर्यटक आवास गृह की जगह स्थापित करेगी कैरावैन पार्क, जानिए क्या मिलेंगी सुविधायें

उत्तराखंड सरकार अब पर्यटक आवास गृह की जगह स्थापित करेगी कैरावैन पार्क, जानिए क्या मिलेंगी सुविधायें

[ad_1]

देहरादून। राज्य में कुमाऊं-गढ़वाल के सुदूरवर्ती क्षेत्र में नैसर्गिक सौंदर्य से भरपूर कई पर्यटक स्थल हैं। लेकिन पर्यटन विभाग इन स्थलों में करोड़ों रुपये खर्च कर पर्यटक आवास गृह बनाने की स्थिति में नहीं है। इसके विकल्प के रूप में पर्यटन विभाग ने कैरावैन पार्क विकसित करने का निर्णय लिया है। इन स्थानों पर पर्यटन विभाग कैरावैन के साथ ही रेस्टोरेंट, पार्किंग, बिजली-पानी सभी सुविधाएं विकसित करेगा। पर्यटन विभाग राज्य के दुर्गम पर्यटक स्थलों में पर्यटक आवास गृह स्थापित करने के बजाए कैरावैन पार्क विकसित करेगा। नैसर्गिक सौंदर्य से भरे इन पर्यटक स्थलों में पर्यटक कैरावैन में रहेंगे। कैरावैन का खर्च नहीं उठा पाने वाले पर्यटक लग्जरी टैंट में रह सकेंगे। इसमें पर्यटकों के लिए रेस्टोरेंट, पार्किंग, बिजली, पानी की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इसे दूसरे स्थानों पर शिफ्ट भी किया जा सकेगा।

मध्यम वर्गीय पर्यटकों के लिए लग्जरी टैंट स्थापित किए जाएंगे। यहां आकर पर्यटक अपने टैंट लगाकर भी पर्यटन का आनंद ले सकेंगे। पर्यटन विभाग द्वारा विकसित किए गए स्थानों पर यदि पर्यटक नहीं पहुंचते हैं तो इन्हें अन्यत्र स्थापित किया जा सकेगा। जबकि करोड़ों रुपये खर्च कर बनने वाले पर्यटक आवास गृहों के नहीं चलने की स्थिति में उसे फायदे में लाने। आगे चला पाना पर्यटन विभाग के लिए चुनौती बना रहता है। इसी को ध्यान में रखते हुए पर्यटन विभाग ने कैरावैन पार्क विकसित करने का निर्णय लिया है। पर्यटन विकास परिषद ने देहरादून के गढ़ी कैंट में इस तरह के कैरावैन पार्क की शुरुआत कर दी है।

ये सुविधाएं मिलेंगी
कैरावैन में पर्यटकों को एलसीडी, सेटेलाइट टीवी, जीपीआरएस, नेविगेशन सिस्टम, वॉशरूम, पेंट्री, कॉफी मेकर, माइक्रो वेव आदि सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। इसमें बैठकर आप घर में रहकर सैर करने का एहसास कर सकेंगे। कैरावैन के जरिए पर्यटक दूरदराज के इलाकों, जंगलों और नदियों के किनारे उत्तराखंड यात्रा को यादगार बना सकते हैं। कैरावैन में आवास, भोजन की सुविधा होने के चलते पर्यटकों को अलग से होटल की बुकिंग नहीं करानी पड़ेगी।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कैरावैन पार्क पर्यटन विभाग की महत्वाकांक्षी परियोजना है। इसके तहत जल्द ही कुमाऊं व गढ़वाल के नैसर्गिक सौंदर्य वाले पर्यटक स्थलों का चयन किया जाएगा। इन स्थलों पर पर्यटन विभाग पर्यटकों के लिए जरूरी सुविधाएं विकसित करने के साथ ही उनमें कैरावैन व लग्जरी टैंट स्थापित करने की व्यवस्था करेगा। इस परियोजना के शुरू होने से राज्य के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में पर्यटन विकास की योजना को बढ़ावा मिलेगा।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top